फेसबुक ने रिलायंस जिओ में 43574 करोड़ से 9.99% की हिस्सेदारी की अपने नाम

अमेरिका की सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने भारत में डिजिटल मार्केटिंग का विस्तार करते हुए एक बड़ा कदम उठाया है। फेसबुक ने रिलायंस जिओ में अपनी हिस्सेदारी का आरम्भ किया है। फेसबुक ने मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के डिजिटल ऑपरेशन रिलायंस जियो (Reliance Jio)  में 9।99% की हिस्सेदारी 43574 करोड़ में खरीदी है। इस डील के साथ ही फेसबुक रिलायंस जिओ की सबसे बड़ी शेयर होल्डर साझेदार कंपनी बन गयी है। जिओ इंडस्ट्रीज ने अभी तक भारत में एक अच्छी शुरुआत की है और साथ ही साथ इसके यूज़र्स भी बढ़ रहे है। ऐसे में इस तरह के निवेश का आना कंपनी के लिए आर्थिक रूप से एक मजबूत स्तम्भ साबित होगा।

शुरुआत से अब तक नंबर 1 कंपनी रही

2016 में जब से रिलायंस जिओ की शुरुआत हुई थी तभी से जिओ देश में सबकी पसंद बनी हुई थी। रिलायंस जिओ अब तक की पहली ऐसी कंपनी है जो डिजिटल समय में तेजी से बढ़ते हुए भारतीय बाज़ार में अमेरिकी तकनीकी समूहों के साथ प्रतिस्पर्धा  कर सकती है। जिओ ने मोबाइल टेलिकॉम से लेकर होम ब्रॉडबैंड में सभी चीजों का तेज़ी से विस्तार किया है। रिलायंस जिओ ने इन्टरनेट को एक आम आदमी की पहुँच में ला दिया है। जिओ ने शहरों में ही नहीं बल्कि गाँवो और कस्बो में भी अपने यूज़र्स की संख्या में तेज़ी से विस्तार किया है।

फेसबुक के लिए भारतीय बाज़ार है बेहद अहम्

एक तरफ जहाँ फेसबुक भारतीय बाज़ार में अपना विस्तार तेज़ी से कर रहा है वही फेसबुक और व्हाट्सएप के यूजर भी भारत में तेज़ी से बढे है। भारत में फेसबुक के 400 मिलियन यूजर्स हैं और व्हाट्सएप के यूजर भी इसी संख्या में आते है। 2022 तक इन्टरनेट की संख्या में और विस्तार हो सकता है इसी को मद्देनजर रखते हुए फेसबुक ने इतना बड़ा निवेश किया है। इस निवेश से ये कयास लगाये जा रहे है की फेसबुक भारतीय बाज़ार में अभी और भी निवेश कर सकता है। इस सौदे को एक नयी तकनिकी के विस्तार के रूप में देखा जा सकता है।

जिओ के घाटे को कम करने की कोशिश

इस सौदे से रिलायंस इंडस्ट्रीज समूह को अपने घाटे से उभरने में मदद मिलेगी और साथ ही साथ फेसबुक की भारत में स्थिति मज़बूत होगी। रिलायंस ने कहा की आज हम रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड में 43,574 करोड़ रुपये निवेश करने की घोषणा कर रहे हैं, जिससे फेसबुक इसका सबसे बड़ा अल्पांश शेयरधारक बन जाएगा। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड इस तरह के निवेश को बढ़ावा देकर अपने क़र्ज़ से मुक्त होने का प्रयास कर रही है। इसके अलावा अपने तेल रसायन के व्यवसाय में भी 20% की भागेदारी के लिए सऊदी अरामको के साथ बातचीत कर रही है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अगले साल तक अपने क़र्ज़ को समाप्त करने का लक्ष्य रखा है। रिलायंस ने इस तरह के निवेश के लिए गूगल से भी बात की है लेकिन इस बारे में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है।

निष्कर्ष:

रिलायंस जिओ और फेसबुक के बिच आंशिक साझेदारी से रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को आर्थिक रूप से कामयाबी मिली है। फेसबुक ने 9.99% की साझेदारी यानि लगभग 43574 करोड़ का निवेश किया है रिलायंस जिओ में। इस तरह के निवेश से जिओ को अपने घटे से उभरने में मदद मिलेगी साथ ही साथ विकास में भी सहायक होगा।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आई तो आप हमारे साथ जुड़े रहे और नयी खबरों के लिए ताज़ी न्यूज़ से जुड़े रहे। आप सभी का धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*